मीठी नीम के फायदे – Benefits of Curry leaves in Hindi

मीठी नीम या करी पत्ता एक भारतीय पौधा है। भारतीय लोग इस पौधे की पत्तियों का उपयोग खाना पकाने के लिए करते हैं क्योंकि इसका अत्यधिक सुगंधित और अनोखा स्वाद सब्जी के स्वाद को काफी बढ़ा देता है।

आयुर्वेद के अनुसार, मीठी नीम (करी पत्ता) एक औषधीय पौधा है जो कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है|

यदि आप नियमित रूप से आयुर्वेद द्वारा निर्धारित तरीकों के अनुसार मीठी नीम का सेवन करतें हैं तो आपको इस पौधे से कई लाभ प्राप्त हो सकते हैं|

इस लेख में हम मीठी नीम के फायदे (Benefits of Curry Leaves in Hindi) और आयुर्वेद द्वारा उसको उपयोग करने के तरीकों के बारे में चर्चा करेंगे जिससे आप मीठी नीम का अधिकतम लाभ प्राप्त कर सकें|

तो, आइए जानते हैं, आयुर्वेद ने मीठी नीम को इतना महत्व क्यों दिया गया है:

आयुर्वेद में, मीठी नीम ने अपने उच्च पोषक तत्वों के कारण बहुत सम्मानजनक स्थान प्राप्त किया है, 100 ग्राम करी पत्तो में पोषक तत्वों की मात्रा कुछ इस प्रकार है:-

  • ऊर्जा – 108 Kcal
  • कार्बोहाइड्रेट्स – 18.7 gm
  • फाइबर – 6.4 gm
  • प्रोटीन – 6.1
  • मिनरल्स – 4.0 gm
  • वसा – 1.0 gm
  • कैल्शियम – 830 mg
  • फॉस्फोरस – 57.0 mg
  • आयरन – 0.93 mg
  • कॉपर – 0.10 mg
  • मॅग्नेशियम – 44.00 mg
  • जिंक – 0.20 mg
  • क्रोमियम – 0.006 mg
  • थिअमीन – 0.080 mg
  • कैरोटीन – 7560 µg
  • राइबोफ्लेविन – 0.210 mg
  • नियासिन – 2.3 mg
  • विटामिन C – 4.00 mg
  • फोलिक एसिड – 93.90 µg

Source: MedIndia

करी पत्ते के पोषक तत्वों की यह सूची काफी लम्बी है, वैज्ञानिक शोधों के अनुसार करी पत्ते भी विटामिन बी, ए, आदि का एक समृद्ध स्रोत हैं।

मेरे खयाल से, ये तथ्य आपके दैनिक आहार में करी पत्ते के महत्व के विषय में आपका विश्वास जीतने के लिए पर्याप्त हैं।

अब, आइए जानते हैं कि करी पत्ते या मीठी नीम के फायदे क्या हैं और करी पत्ते का अधिकतम लाभ पाने के लिए इसका उपयोग कैसे करें।

मीठी नीम के फायदे – Benefits of Curry Leaves in Hindi


#1. वजन घटाने के लिए (Weight Loss)

करी पत्ते आंतों की आंतरिक दीवारों के पाचन प्रक्रिया में सुधार करते हैं जो अंततः आपके शरीर में वसा को अवशोषित करने के तरीके में सुधार करता है। इसके साथ ही करी पत्ते गुड कोलेस्ट्रॉल (एचडीएल) को बेहतर बनाता है और खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को कम करता है और चयापचय में सुधार करता है।

इसलिए वजन कम करने के लिए करी पत्ते का सेवन एक सही विकल्प है, आप इसका उचित तरीके से सेवन करें जैसा कि नीचे दिया गया है।

वजन घटाने के लिए करी पत्ते का उपयोग कैसे करें

  • एक गिलास पानी में मुट्ठी भर करी पत्ते उबालें
  • अब पानी को छान लें और करी पत्ते को पानी से निकाल लें
  • पानी में कुछ चम्मच नींबू का रस और शहद मिलाएं

अब शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के साथ आपका प्राकृतिक वसा कटर तैयार है

इसे सुबह पियें और यदि आप को बेड टी पीने की आदत है तो आप इस पौष्टिक पानी का इस्तेमाल उसके स्थान पर करें इससे आपको बहुत लाभ होगा।

#2. बाल बढ़ाने और मजबूत करने के लिए (Hair Growth)

करी पत्तों में उन सभी पोषक तत्वों का एक पावर बैंक होता है जो आपके बालों को बढ़ाने और स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक हैं। वैज्ञानिक शोधों के अनुसार, हमारे बालों के लिए कुछ पोषक तत्त्व काफी आवश्यक होतें हैं जैसे: विटामिन ए, बी, सी, डी, ई आयरन, जिंक और प्रोटीन।

यदि आप करी पत्ते के पोषक तत्वों की सूची पर ध्यान दें तो आपको करी पत्ते में वो सभी आवश्यक तत्व मिलेगें वो बालों की अच्छी सेहत और उनको मजबूत बनाने के लिए जरूरी हैं| अर्थात,अगर आप उचित तरीके से मीठी नीम का सेवन करते हैं तो निश्चित रूप से आप अपने बालों में जबरदस्त वृद्धि देखेंगें।

बालों की वृद्धि के लिए करी पत्ता का उपयोग कैसे करें

आप निम्नलिखित तरीके से अपने बालों के विकास के लिए मीठी नीम या करी पत्ता का उपयोग कर सकते हैं

  • करी पत्ता का तेल
  • करी पत्ता शैम्पू
  • करी पत्ता हेयर मास्क
  • बालों को धोने के लिए करी पत्ता का पानी

बाजार में पाए जाने वाले विभिन्न लोकप्रिय ब्रांड मीठी नीम का तेल और शैम्पू उपलब्ध करातें हैं, लेकिन उनमें आम तौर पर बहुत सारे रसायन डाले जातें हैं जो अंततः करी पत्ते के लाभों पर नकारात्मक रूप से हावी होकर आपके बालों को फायदे से ज्यादा नुकसान ही पहुँचातें हैं। मैं व्यक्तिगत रूप से आपको सलाह दूँगा कि आप इन उत्पादों को घर पर ही तैयार करें जिसकी विधि बहुत ही आसान है।

आप नीचे दिये गए तरीके से करी पत्ते का तेल घर पर ही तैयार कर सकते हैं।

करी पत्ता तेल – जानिए कैसे बनाये करी पत्ता तेल:

  • एक कप ताजा करी पत्ता लें
  • एक चम्मच पानी के साथ करी पत्ते को पीस लें
  • अब 150 मिलीलीटर कोल्ड प्रेस्ड नारियल तेल लें
  • अब इसमें मीठी नीम का पेस्ट डालें और धीमी आँच पर 10 मिनट तक पकाएं
  • पकाने के दौरान 7 मिनट के बाद एक टेबल स्पून अज्वैन मिलाएं
  • 10 मिनट के बाद आँच बंद कर दें और एक घंटे के लिए छोड़ दें और ठण्डा होनें दें
  • अब एक ग्लास कंटेनर में यह तेल भर कर अच्छी तरह से ढक कर रखें
  • इस घर में बनें करी पत्ते के तेल का स्व जीवन 3 महीने का होता है
  • यह शक्तिशाली हेयर ऑयल को रोजाना अपने स्कैल्प पर लगाकर स्कैल्प की अच्छे से मसाज करें

यहाँ नारियल का तेल महत्वपूर्ण है क्योंकि नारियल के तेल में बालों की वृद्धि करने वाले पोषक तत्व होते हैं जो करी पत्ते के साथ संयोजित हो कर बालों पर चमत्कारी प्रभाव डालतें हैं।

करी पत्ता हेयर मास्क:

करी पत्ते का हेयर मास्क तुलनात्मक रूप से सरल है आप इस हेयर मास्क को निम्नलिखित सरल चरणों में तैयार कर सकतें हैं:

  • तीन मुट्ठी करी पत्ते लें और धो लें
  • अब 1 टेबल स्पून पानी के साथ करी पत्तों का बारीक पेस्ट बना लें
  • इस पेस्ट को अपने स्कैल्प पर लगाएं और सर्कुलर मोशन में मसाज करें ताकि जड़ें पोषक तत्वों को अच्छी तरह से सोख सकें
  • इसे लगभग आधे घंटे के लिए छोड़ दें
  • अब गुनगुनें पानी से अपने बालों को अच्छी तरह से धो लें

करी पत्ते का पानी:

यह सबसे सरल हेयर केयर उपाय है जिसका उपयोग आप अपने बालों को चमकदार बनाने के लिए कर सकतें हैं। करी पत्ता का पानी तैयार करने की प्रक्रिया ऊपर वजन घटाने अनुभाग में दी गई है। यहाँ परिवर्तन केवल इतना है कि बालों की वृद्धि के लिए आपको दैनिक आधार पर इस पानी को अपने स्कैल्प पर लगाना होगा।

तो यह मीठी नीम के दो प्रमुख उपयोग हैं|

परन्तु करी पत्ते के लाभों की सूची यहाँ समाप्त नहीं होती है। मीठी नीम के कुछ अन्य फायदे इस प्रकार हैं…

#3. विषहरण (Detoxification)

करी पत्ते में प्रमुख शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट मौजूद होतें हैं जो आपके शरीर में मौजूद मुक्त कणों और विषाक्त पदार्थों से लड़ते हैं। करी पत्ते आंत की आंतरिक दीवार पर सकारात्मक प्रभाव देतें हैं और वहां मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को बाहर निकालतें हैं।

जिंक और सी, डी जैसे विटामिन के साथ करी पत्ता आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को काफी मजबूत बनाता है। जिससे आप बदलते मौसम के साथ सामान्य रूप से होनें वाली बिमारियों से बचे रहतें हैं।

#4. घाव को ठीक करें

करी पत्ता शरीर में जले तथा कटे घाव को ठीक करता है। करी पत्ते में प्राकृतिक रूप से एंटीबैक्टीरियल गुण पाये जातें हैं जो किसी भी तरह के घाव को जल्द से जल्द ठीक कर देता है तथा उसके इन्फेक्शन को भी समाप्त कर देता है।

आपको जहाँ पर भी घाव हुआ है बस वहाँ पर करी पत्ता का पेस्ट लगा दें और इसे थोड़ी देर के लिए छोड़ दें यह घाव या जलन को ठीक करने का सबसे तेज़ और पुराना उपाय है।

#5. डायबिटीज को कंट्रोल करें (Control Diabetes)

अगर आप डायबिटीज (मधुमेह) से पीड़ित हैं तो आपकी दिनचर्या में करी पत्ता शामिल करना आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प होगा। करी पत्ता आपके शरीर में इंसुलिन के स्तर को नियंत्रित करता है जिससे आपके शरीर में ब्लड शुगर का स्तर नियन्त्रित हो जाता है जो परोक्ष रूप से आपके मोटापे को भी नियंत्रित करता है।

#6. अच्छा हृदय स्वास्थ्य (Heart health)

ह्रदय का अच्छा स्वास्थ प्राप्त करनें के लिए आपको नियमित रूप से मीठी नीम के पत्तों का उपयोग करना चाहिए। करी पत्ता आपके दिल के सबसे बड़े दुश्मन यानी बुरे कोलेस्ट्रॉल (LDL) को नियंत्रित करता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल (HDL) में सुधार करता है। साथ ही मधुमेह में नियंत्रण के कारण आपके हृदय के समग्र स्वास्थ्य में सुधार होता है।

#7. कैंसर से लड़ें (Cure Cancer)

करी पत्ते में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं से लड़तें हैं और उन्हें शुरुआती अवस्था में ही नष्ट कर देतें हैं। अगर आप स्वस्थ जीवन शैली के साथ अपने दैनिक आहार में करी पत्ता शामिल करतें हैं तो आप खुद को और परिवार को कैंसर की पहुंच से दूर रख सकतें हैं।

#8. मनुष्य में प्रजनन क्षमता में सुधार (Improve Reproduction System)

शुक्राणु की संख्या और गतिशीलता दो महत्वपूर्ण कारक हैं, जिस पर हम एक आदमी की प्रजनन क्षमता को तय करतें हैं। अध्ययनों के अनुसार, शुक्राणु के प्रमुख घटक प्रोटीन, जस्ता, विटामिन बी, कैरोटीन, आदि हैं। यदि आप अपने शुक्राणुओं की संख्या में सुधार करना चाहतें हैं, तो करी पत्ता नियमित रूप से खाएं, आपको बहुत सीमित समय के भीतर सकारात्मक प्रभाव दिखाई देंगे।

#9. डायरिया, मतली और कब्ज का इलाज करें (Cure diarrhea and Constipation)

जैसा कि मैंने पहले ही आपको बताया कि करी पत्ते आपकी आंत को पर सकारात्मक प्रभाव देतें हैं जिससे डायरिया और कब्ज जैसी बिमारियाँ दूर रहती हैं ।

कैसे इस्तेमाल करें: डायरिया या कब्ज होनें पर छाछ तैयार करें फिर उसमें मीठी नीम के कुछ पत्ते तोड़ कर डालें और खाली पेट पीएं, इससे आपको काफी आराम मिलेगा।

#10. आंखों की रोशनी में सुधार (Cure Eye problems)

करी पत्ते में मौजूद विटामिन ए की अच्छी मात्रा आपकी आंखों की रोशनी को बेहतर बनाने में मदद करती है। यह आंखों की दृष्टि में सुधार करने के लिए सबसे पुराने तरीकों में से एक है।

#11. तनाव और याददाश्त में सुधार (Reduce stress and Improve memory)

अपनी तीव्र सुगंध के कारण मीठी नीम का एसेंशियल तेल (Essential Oil) तनाव को कम करता है, इसके लिए आप करी पत्ते का Essential Oil खरीद कर अपने सिर, माथे और नाक पर इस तेल की कुछ बूँदें लगाये, यह उपचार बुजुर्गों में होनें वाली alzihmer रोग को भी ठीक करता है।

यदि आपका कोई रिश्तेदार या आपके माता-पिता अल्जाइमर से पीड़ित हैं तो आप उन्हें करी पत्ता सुझा सकते हैं।

नोट:- आयुर्वेद के अनुसार, करी पत्ता खाने का सबसे अच्छा समय सुबह खाली पेट है। बस मुट्ठी भर करी पत्तों को अच्छी तरह से चबाकर खाएं और इसे घोंट लें। उसके बाद एक घंटे तक कुछ भी न खाएं-पिएं।

मीठी नीम के नुकसान – Side effects of Curry Leaves in Hindi

चूँकि करी पत्ता एक औषधीय पौधा है इसलिए करी पत्ता का किसी भी प्रकार का नुकसान देखनें को नहीं मिलता है, जिसका मैं यहाँ उल्लेख कर सकूँ लेकिन सुरक्षित पक्ष का ध्यान रखते हुए यदि मीठी नीम के सेवन के दौरान आपको किसी प्रकार की असहजता अथवा एलर्जी हो रही हो तो इसका सेवन रोक देना चाहिए, साथ ही गर्भवती महिलाओं को भी मीठी नीम का सेवन डॉक्टर से सलाह लेनें के बाद चाहिये।

यदि आपका रक्तचाप और मधुमेह सामान्य स्तर से नीचे ही रहता है तो करी पत्तों का उपयोग न करें अन्यथा आपको इसका दुष्प्रभाव का सामना करना पड़ सकता है।

ऐसी परिस्थियों में करी पत्ते का इस्तेमाल करने के पहले आप अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें|

करी पत्ता कैसे प्राप्त करें

भारत में यह पौधा बड़ी आसानी से उपलब्ध होता है, क्योंकि भारतीय जलवायु और मिट्टी करी पत्ता की वृद्धि में बहुत समर्थन करती है। यहाँ आप बहुत ही कम रख-रखाव के साथ आसानी से अपने गमले में करी पत्ते का पौधा उगा सकतें हैं।

परन्तु, यदि आप किसी ऐसे भौगोलिक स्थान पर रह रहें हैं जहाँ की जलवायु और मिट्टी की गुणवत्ता मीठी नीम की खेती के लिए उपयुक्त नहीं है तो आप इसे किसी ई-कॉमर्स वेबसाइट से ऑन-लाइन खरीद सकतें हैं।

मुझे उम्मीद है कि आपको यह लेख मीठी नीम की फ़ायदे (करी पत्ता के फायदे) पसंद आया होगा अगर आपको कोई संदेह या सवाल है तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं।

हम अपने अनुभव और ज्ञान के आधार पर आपके संदेह को दूर करने का पूरा प्रयत्न करेंगें।

Leave a Comment