शीतकारी प्राणायाम – Sheetkari Pranayama in Hindi

शीतकारी प्राणायाम

शीतकारी प्राणायाम, शीतली प्राणायाम के समान ही शरीर तथा मन को ठंडक पहुँचाता है परन्तु शीतकारी प्राणायाम करने की विधि शीतली प्राणायाम के अपेक्षा काफी सहज और सरल है। कुछ लोगों को शीतली प्राणायाम करने के दौरान जीभ को नली के आकार में मोड़ने में तकलीफ होती है, उनके लिए यह प्राणायाम काफी उपयोगी होता … Read more

शीतली प्राणायाम – Sheetali Pranayama in Hindi

शीतली प्राणायाम

शीतली प्राणायाम शरीर के अत्यधिक बढ़े हुए तापमान को कम करनें के लिए काफी कारगर प्राणायाम है, यदि आप अत्यधिक गर्म मौसम के कारण बहुत अधिक बेचैनी या घबराहट महसूस कर रहें हैं तो आपको नियमित रूप से गर्मी के मौसम के दौरान शीतली प्राणायाम का अभ्यास करना चाहिए। शीतली प्राणायाम (Cooling Pranayama) न केवल … Read more

उज्जायी प्राणायाम – Ujjayi Pranayama in Hindi

उज्जायी प्राणायाम

उज्जायी शब्द संस्कृत भाषा से लिया गया है जो दो शब्दों के संधि से बना है – ‘उद्द + जी‘ जहाँ ‘जी‘ शब्द का मतलब है ‘जीतना‘ तथा ‘उद्द‘ शब्द का मतलब है ‘बंधन‘। अर्थात उज्जायी प्राणायाम हमें बंधनों पर विजय दिलाता है।  योग शास्त्रों के अनुसार शरीर में गले से सम्बंधित समस्त रोगों के … Read more

भस्त्रिका प्राणायाम – Bhastrika pranayam in Hindi (Bellows breathing exercise)

भस्त्रिका प्राणायाम

भस्त्रिका शब्द का हिंदी में तात्पर्य लोहार (Blacksmith) द्वारा इस्तेमाल की जानें वाली धौंकनी (Blower) से है, जिसका उपयोग लोहार लोहा तपाने वाली अग्नि को और तीव्र करनें के लिए करता है|  क्योंकि भस्त्रिका प्राणायाम के दौरान भी हमें धौंकनी के समान ही तीव्र गति से श्वास भर कर उसी गति से बाहर छोड़नी होती … Read more

भ्रामरी प्राणायाम – Bhramari pranayama in hindi

भ्रामरी प्राणायाम

संस्कृत भाषा में मधुमक्खी (Honey Bee) को भ्रामरी बोला जाता है और इसी नाम के आधार पर इस प्राणायाम का नाम भ्रामरी प्राणायाम (Humming Bee) रखा गया है| क्योंकि भ्रामरी प्राणायाम के दौरान हम मधुमक्खी के समान भनभनानें (Humming Noise) की ध्वनि निकालते हैं जिससे हमारे मन और मस्तिष्क को काफी शान्ति मिलती है और … Read more

कपालभाति प्राणायाम – Kapalbhati pranayama in Hindi

कपालभाति प्राणायाम

कपालभाति (Kapalbhati) शब्द संस्कृत के दो शब्दों से मिल कर बना है – कपाल + भाति। जहाँ कपाल शब्द का तात्पर्य माथे से है और भाति शब्द का तात्पर्य है चमक अर्थात कपालभाति महर्षि पतंजलि द्वारा बताये गए प्राणायामों में एक ऐसा प्राणायाम है जिसके नियमित अभ्यास से हमारे चेहरे पर अलौकिक तेज (चमक) आता … Read more

अनुलोम विलोम प्राणायाम – Anulom vilom pranayama in Hindi

अनुलोम विलोम प्राणायाम

हमारे शरीर में कुल 72000 नाड़ियाँ हैं जिन्हें अंग्रेजी भाषा में एनर्जी चैनल्स (Energy Channels) कहा जाता है| यह नाड़ियाँ हमारे पूरे शरीर में फैली हुयीं हैं और इनका कार्य शरीर में प्राणशक्ति का प्रवाह करना है| हमारी आधुनिक जीवनशैली में गलत खानपान, तनाव, योग (Yoga) और प्राणायाम (Breathing excersice) की कमी के कारण हमारी … Read more

प्राणायाम क्या है – What is pranayama in Hindi

प्राणायाम

महर्षि पतंजलि द्वारा बताये गए अष्टांग योग (ASHTANGA YOGA) में प्राणायाम योग का चौथा महत्वपूर्ण भाग है|  प्राणायाम (breathing exercise) शब्द की उत्पत्ति संस्कृत के दो शब्दों (प्राण + आयाम) से मिल कर हुई है| यहाँ प्राण का अर्थ है हमारी जीवन शक्ति या प्राण शक्ति और आयाम का अर्थ है नियंत्रित करना और प्रसार करना … Read more

मीठी नीम के फायदे – Benefits of Curry leaves in Hindi

मीठी नीम के फायदे

मीठी नीम या करी पत्ता एक भारतीय पौधा है। भारतीय लोग इस पौधे की पत्तियों का उपयोग खाना पकाने के लिए करते हैं क्योंकि इसका अत्यधिक सुगंधित और अनोखा स्वाद सब्जी के स्वाद को काफी बढ़ा देता है। आयुर्वेद के अनुसार, मीठी नीम (करी पत्ता) एक औषधीय पौधा है जो कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता … Read more

जुकाम का इलाज, लक्षण, बचाव और सावधानियाँ – How to cure common cold in Hindi

जुकाम का इलाज

सर्दी जुकाम है तो सामान्य रोग जो प्रायः जाड़े और बरसात के मौसम में हो ही जाता है| कभी कभी गर्मी के मौसम में भी लापरवाही बरतनें से हम इसको न्यौता दे देते हैं| साधारण तौर पर जुकाम होने पर नाक बहना, सूखी या कफ के साथ खाँसी आना, आँखों में जलन,कानों में खुजली, बदन दर्द, … Read more